Online Marketing –A Strategy for all business

Online marketing is the art and science of selling products and/or services over digital networks, such as the internet and cellular phone networks. The combination of Art and Science emphasis the searching new customers with streamlining the future customers. The process also includes converting the current prospect to Customer. The art of online marketing involves …

Online Marketing –A Strategy for all business Read More »

निवेश करने से पहले शेयर बाजार के बारे में सब कैसे सीख सकते हैं?

मैं आपको शेयर बाजार निवेश का एक आसान तरीका बताउगा।हालांकि मैं भी अभी स्टॉक मार्केट को सीख ही रहा हु। मेरे पास स्टॉक मार्केट में निवेश करने का एक सरल नियम है, महान निवेशक वारेन बफेट के हवाले से “उस कंपनी में निवेश न करें जिसे आप समझते नहीं हैं” आज Quora हिंदी में ऐसे …

निवेश करने से पहले शेयर बाजार के बारे में सब कैसे सीख सकते हैं? Read More »

जब एक शेयर बाजार दुर्घटनाग्रस्त हो जाता है और हर कोई बेच रहा है, तो वास्तव में कौन खरीदने को तैयार है?

जब कोई भी शेयर या इंडेक्स बुरी तरह गिर रहा होता है, तब खरीदने वालों से ज्यादा बेचने वाले होते हैं, यह बात सच है। लेकिन ऐसे समय में भी कौन खरीद रहा होता है, आइये जानते हैं।

ऐसे शार्ट सेलर्स, जिन्होंने ऊंचे दामों पर शेयर बेचे हों, या शार्ट किये हों, प्रॉफिट बुक करने के लिए वह खरीदते हैं।
स्केलपर : ऐसे ट्रेडर जो 50 पैसे, 1 रुपये जैसे छोटे छोटे मुनाफे खींचने में माहिर होते हैं। जैसे, एक स्टॉक 500 रुपये से 450 रुपये तक गिरा 1 घंटे में।
इस गिरावट में एक स्केलपर 20–25 बार ट्रेड कर लेगा। 500 पर बेचेगा 495 पर खरीद लेगा। फिर 492 पर बेचेगा 488 या 489 पर खरीद लेगा। स्केलपर ट्रेडर ऐसे समय में बहुत ज्यादा खरीदते और बेचते हैं।
निवेशक : जिन्होंने किसी समय पर निवेश किया था, अब वह हर प्राइस पॉइंट पर निकलने की कोशिश करेंगे। लेकिन, कुछ ऐसे भी हैं, जो गिरावट के दौरान और ज्यादा खरीदने की कोशिश करते हैं ताकि उनका एवरेज बाइंग प्राइस कम हो जाए।
कंपनी की मैनेजमेंट : हर कंपनी के पास एक इमरजेंसी फंड होता है, जिसका इस्तेमाल वह ऐसी परिस्थितियों में करते हैं। जब कंपनी के शेयर के दाम गिर रहे होते हैं, तो कंपनी के लोग शेयर को खरीदकर इसे गिरने से रोकने की कोशिश करते हैं।

क्या 2020 में भारत में आर्थिक मंदी आने वाली है?

जब.देश की आर्थिक प्रगति पिछले पाँच साल से ज्यादा सालों से पांच प्रतिशत से ज्यादा दर से बढ़ रही है तो अचानक उसकि गति ऋणात्मक कैसे हो सकती है।

How is today’s corporate tax cut going to shape the Indian economy in both short-term and long-term?

2000 points jump in SENSEX and 570 points jump in NIFTY! When was the last time you saw these magical numbers? Never! That’s because Nirmala Sitharaman, our FM, did something extraordinary. The tax rate cut will have a great long run impact on Domestic Companies as this is not a one time benefit. India always …

How is today’s corporate tax cut going to shape the Indian economy in both short-term and long-term? Read More »

भारत में बढ़ती आर्थिक असमानता का कारण क्या है?

आर्थिक आसमानता, भारत की उन्नति और विकास में अवरोध उत्पन्न करती है। भलेही भारत की आर्थिक विकास दर विश्व में सबसे अधिक है फिर भी ये बढ़ती हुई आर्थिक असमानता को करने में असफल है। हमारी विकास कि रणनीति इस आर्थिक असमानता को दूर करने में असफल रही है।